Gmail में Cc और Bcc का क्या मतलब होता है?

Reading Time: 1 minute

mail 2

आप मेल भेजने के लिए अक्सर Gmail का उसे करते होंगे और आपको पता होगा कि किसी को मेल भेजने के लिए पहले मेल प्राप्त करने वाले का email id  डालना पड़ता है। यहाँ मै आपको बता दू कि मेल भेजने वाले को sender और मेल प्राप्त करने वाले को recipient बोलते है। आपने देखा होगा कि किसी को मेल भेजते समय recipient का email id डालने के लिए तीन ऑप्शन होते हैं To, Cc और Bcc ।अगर आप नहीं जानते कि इन तीनो का क्या मतलब होता है और इन्हे कब use करना चाहिए तो आइये मै आपको विस्तार से समझाता हूँ।

Gmail में Cc और Bcc का क्या मतलब होता है?

To :- अगर यह मेल recipient के खास अटेंशन के लिए है और इस मेल पर उसका एक्शन जरुरी है तो recipient का email id इसमें डालें।

Cc : (Carbon Copy) – अगर आप दो या दो से ज्यादा लोगों को मेल कि कॉपी भेज रहे है और आप चाहते है कि सभी को पता चले के यह मेल किस किस को भेजा गया है तो बाकि recipient का email id इसमें डालें।

Bcc : (Blind Carbon Copy) – अगर आप मेल कि कॉपी भेज रहे है और आप चाहते है कि recipient कि जानकारी किसी के पास न जाये तो email id इसमें डालें।

अगर आप अभी भी confused है कि कौन recipient क्या देख सकता है तो मै आपको एक example से समझाता हूँ।

mail 3Ramesh, Suresh और Mahesh तीनो ये देख सकते है कि मेल Ramesh, Suresh और Mahesh को भेजा गया है और ये तीनो ये भी देख सकते हैं कि यह मेल Jon, Jack और Herry को भेजा गया है।

Jon, Jack और Herry तीनो ये देख सकते है कि मेल Ramesh, Suresh और Mahesh  को उनके अटेंशन के लिए भेजा गया है और वे तीनो यह भी देख सकते हैं कि मेल की कॉपी Jon, Jack और Herry  को भेजा गया है।

Carl, Steve और Watt तीनो ये देख सकते हैं कि मेल Ramesh, Suresh और Mahesh  को उनके अटेंशन के लिए भेजा गया है और वे तीनो यह भी देख सकते हैं कि मेल की कॉपी Jon, Jack और Herry  को भेजा गया है।

कोई भी ये नहीं देख सकता कि मेल Carl, Steve और Watt को भेजा गया है।

और भी लेटेस्ट टेक्नोलॉजी से सम्बंधित न्यूज़ पढ़ने के लिए विजिट करें http://www.the-todays-tech.com और डेली अपडेट पाने के लिए हमें फॉलो करें Facebook और Twitterपर

 

 

Share it to

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here