Facebook 2019 में अपना Internet Satellite लांच करना चाहता है

Reading Time: 1 minute

satellite

अभी भी करोडो लोग जो Internet की पहुँच से बाहर हैं, Facebook उनके लिए 2019 में अपना खुद का Internet Satellite लांच करने की योजना बना रहा है।

एक आवेदन के मुताबिक Facebook ने PointView Tech LLC नाम के तहत US Federal Communications Commission(FCC) के साथ दायर किया है, इस प्रोजेक्ट को unserved और underserved क्षेत्रों में पहुंचाने के लिए डिज़ाइन किया गया है।

हालांकि, Facebook निचली पृथ्वी कक्षा में Satellite के माध्यम से इंटरनेट की पहुंच बढ़ाने की कोशिश करने वाला अकेला नहीं है। Elon Musk का SpaceX और Softbank-backed OneWeb  दो अन्य प्रमुख नाम हैं जो यह काम करना चाहते हैं।

WIRED के रिपोर्ट के मुताबिक Facebook ने कन्फर्म किया है की उनके प्रोजेक्ट का नाम Athena है।

“हालांकि, इस समय हमारे पास इस प्रोजेक्ट के बारे में शेयर करने के लिए कुछ नहीं है, हम मानते हैं कि Satellite Technology अगली पीढ़ी के broadband infrastructure का एक महत्वपूर्ण enabler होगा, जिससे ग्रामीण इलाकों में Broadband connectivity लाना संभव हो पायेगा , जहां इंटरनेट कनेक्टिविटी की कमी है या कनेक्टिविटी नहीं है , “एक Facebook प्रवक्ता के एक बयान में कहा गया था।

जबकि Facebook ने दुनिया भर के अरबों underserved लोगों को जोड़ने का अपना पूरा लक्ष्य व्यक्त किया था, लेकिन इसे दो पूर्व प्रोजेक्ट में ज्यादा सफलता नहीं मिली है।

जून में, Facebook ने घोषणा की कि उसने Aquila नामक high-flying solar-powered drones विकसित करने की अपनी योजना को त्यागने का फैसला किया है जिसका उद्देश्य दुनिया के दूरस्थ हिस्सों में लगभग चार अरब लोगों को इंटरनेट प्रदान करना था।

Facebook के CEO Mark Zuckerberg के मुताबिक एक high altitude platform station (HAPS) system, Aquila का मिशन, दुनिया को जोड़ने और उन लोगों की मदद करना था जिनके पास इंटरनेट के सभी अवसरों तक ऑनलाइन पहुंच नहीं है।

Facebook ने 2014 में Aquila प्रोजेक्ट शुरू किया था । 2017 में, सौर संचालित ड्रोन ने सफलतापूर्वक second full-scale test उड़ान पूरी की।

Verge ने बताया कि 2017 में Social Network  ने एक छोटा हेलीकॉप्टर ड्रोन प्रोजेक्ट भी बंद कर दिया गया था जो अस्थायी रूप से आपातकालीन स्थितियों में सेलुलर सेवाओं को रिप्लेस कर सकता है।

यह विचार हवा में सैकड़ों मीटर दूरसंचार उपकरणों से लैस एक हेलीकॉप्टर भेजना था जहां आपदा या अन्य कारकों के कारण वायरलेस क्षमता से compromise किया गया था, जहां फाइबर और पावर लाइनों को tether करने में सक्षम हो सके।

और भी लेटेस्ट टेक्नोलॉजी से सम्बंधित न्यूज़ पढ़ने के लिए विजिट करें http://www.the-todays-tech.com और डेली अपडेट पाने के लिए हमें फॉलो करें Facebook और Twitterपर

Share it to

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here